COVID-19 से पूरे यूरोप में सबसे ज्यादा 66 हजार लोग ब्रिटेन में मरेंगे, अध्ययन में जताई गई आशंका
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

कोरोना क्विक अपडेट

  • स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में अब तक कोरोना के 76,51,107 केस कन्फर्म हो चुके हैं, जिनमें 7,40,090 एक्टिव केस हैं, 67,95,103  लोग ठीक हो चुके हैं और 1,15,914 की मृत्यु हो चुकी है।
  • वेबसाइट वर्ल्डमीटर्स.इनफो के मुताबिक, भारत कोरोना से मृत्यु के मामले में अमेरका और ब्राजील के बाद तीसरे स्थान पर है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से पूरी दुनिया के 235 देशों और इलाकों में अब तक 4,02,51,950 लोग संक्रमित हुए हैं और 11,16,131 लोग दम तोड़ चुके हैं।
  • कोरोना के बारे में अफवाहों से बचने और पल-पल की सही जानकारी व ख़बरें प्राप्त करने के लिए जुड़े रहें https://tanman.org/ के साथ।

Britain set for 66,000 COVID-19 deaths, highest toll in Europe

एक हालिया अध्ययन में ब्रिटेन के लिए बड़ी ही चिंताजनक बात सामने आई है। इसमें बताया गया है कि कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण की पहली लहर में ब्रिटेन में 66 हजार लोगों की मौत हो सकती है। University of Washington’s School of Medicine में Metrics and Evaluation (IHME) ने यह अध्ययन किया है। इसमें बताया गया है कि पूरे महाद्वीप में इस वायरस से 1 लाख 51 हजार 680 लोगों की जान जा सकती है।

पश्चिमी यूरोप बना केंद्र

  • हालांकि कोरोना वायरस की शुरुआत चीन से हुई थी, लेकिन WHO के मुताबिक अब पश्चिमी यूरोप इसका केंद्र बन गया है।
  • इनमें यूके, ब्रिटेन, इटली और फ्रांस जैसे देश शामिल हैं।
  • इन देशों में मृतकों की तादाद लगातार बढ़ती ही जा रही है।
  • ख़बर लिखे जाने तक ब्रिटेन में COVID-19 से 17 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी थी।
  • इस मामले में स्पेन, इटली और फ्रांस से ब्रिटेन थोड़ा ही पीछे है।

ब्रिटेन में बढ़ी मृत्यु दर

  • अध्ययन के अनुसार अन्य देशों के मुकाबले ब्रिटेन में लोगों की मृत्यु दर बढ़ी है।
  • मामलों की संख्या के स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय आंकड़ों का अध्ययन में विश्लेषण किया गया है।
  • इटली, चीन और यूएस में विभिन्न उम्र में मौत का भी आकलन किया गया है।
  • विभिन्न देशों के अनुसार अध्ययनकर्ताओं की टीम ने संभावित मौतों का आंकड़ा बताया है।
  • अलग-अलग देशों की इंटेंसिव बेड केयर कैपिसिटी कितनी है, इसका भी इसमें अध्ययन किया गया है।

काल के गाल में समा सकती है इतनी आबादी

  • अध्ययन में पाया गया है कि जुलाई तक ब्रिटेन में कोविड-19 से 66 हजार लोग काल के गाल में समा सकते हैं।
  • यूरोप में सबसे अधिक प्रभावित इटली से भी यह अधिक गंभीर होगा।
  • IHME के निदेशक क्रिस्टोफर मुर्रे (Christopher Murray) के अनुसार यूरोप में उनके अनुमान से भी आंकड़े आगे जा सकते हैं।

इटली और स्पेन में घटी रफ्तार, ब्रिटेन में बढ़ी

  • अध्ययन की रिपोर्ट के अनुसार इटली और स्पेन में महामारी से मौत की रफ्तार बीते कुछ दिनों में घटी है, जबकि यूके में यह बढ़ती ही जा रही है।
  • मुर्रे के अनुसार अप्रैल के तीसरे हफ्ते तक यूरोप में स्थिति और भयावह होने वाली है।
  • मुर्रे के मुताबिक ब्रिटेन को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अन्य उपायों पर गंभीरता से अमल करने की जरूरत है, ताकि कोरोना वायरस से हो रही मौतों की संख्या को कम-से-कम रखा जा सके।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!