जानिए, आम सर्दी-जुकाम से कैसे अलग हैं कोरोना वायरस के लक्षण?
कृपया शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

कोरोना क्विक अपडेट

  • स्वास्थ्य मंत्रालय के 14 मार्च 2021 के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में अभी कोरोना के 210544 एक्टिव केस हैं, 10989897 लोग ठीक हो चुके हैं और 158607 की मृत्यु हो चुकी है।
  • वेबसाइट वर्ल्डमीटर्स.इनफो के मुताबिक, भारत कोरोना से मृत्यु के मामले में अमेरिका, ब्राजील और मेक्सिको के बाद चौथे स्थान पर है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से पूरी दुनिया के 223 देशों और इलाकों में अब तक 118,754,336 लोग संक्रमित हुए हैं और 26,34,370 लोग दम तोड़ चुके हैं।
  • कोरोना के बारे में अफवाहों से बचने और पल-पल की सही जानकारी व ख़बरें प्राप्त करने के लिए जुड़े रहें https://tanman.org/ के साथ।

This is how Corona virus symptoms are different from seasonal flu and common cold

मौसमी सर्दी-जुकाम भी यदि लोगों को हो रहे हैं तो उन्हें लग रहा है कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। इस तरह के कई मामले अब तक देश में सामने आ चुके हैं, जहां कि गलतफहमी का शिकार लोग हुए हैं। कोरोना वायरस को लेकर सावधान रहना तो बहुत अच्छी बात है, लेकिन सामान्य सर्दी-जुकाम के लक्षणों और कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षणों के बीच के अंतर को समझना भी उतना ही जरूरी है। ऐसे में यहां हम आपको बता रहे हैं कि आप किस तरीके से इनकी पहचान कर सकते हैं।

क्या हैं कोरोना वायरस के लक्षण? (symptoms of Corona virus)

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक कोरोना वायरस के लक्षण निम्नवत हैं:

  • बुखार आ जाना।
  • सूखा कफ होना।
  • थकान (tiredness) महसूस होना।
  • बदन में दर्द (body pain) की शिकायत होना।
  • सिर में दर्द होना।
  • खांसते समय खून आना।
  • कई मरीजों में दस्त की समस्या भी देखी गई है।
  • माना जा रहा है कि 1 से 14 दिनों के अंदर कोरोना वायरस का संक्रमण अपना असर दिखाता है।
  • वैसे कई शोधकर्ताओं ने पाया है कि सामान्य होने में मरीजों को 24 दिन भी लग रहे हैं।
  • ठीक होने में किसी मरीज को लगभग 2 हफ्ते का वक्त लगता है।
  • कई मरीजों के ठीक होने में 6 हफ्ते का भी वक्त लगा है।
  • अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए ना तो कोई दवाई विकसित हो सकी है और न ही कोई टीका।
  • केवल इसके लक्षणों के जरिए ही इसका इलाज फिलहाल संभव है।

मौसमी फ्लू के क्या हैं लक्षण? (Symptoms of Seasonal Flu)

कोरोना वायरस के लक्षण आपने जान लिए। अब आपको बताते हैं कि मौसमी फ्लू के लक्षण क्या-क्या हैं?

  • इसमें भी मरीजों को कोरोना वायरस की तरह ही बुखार (fever) आ जाता है।
  • सूखे कफ की शिकायत होती है।
  • थकान महसूस होती है।
  • बदन में दर्द होता है।
  • इन सबके अलावा खराश गले में हो जाती है।
  • नाक बहती रहती है या भरी हुई नजर आती है।
  • आम लक्षणों में इसके दस्त होना और उल्टी (vomiting) होना भी शामिल हैं।
  • कोरोना वायरस के लक्षणों में लोगों की नाक बहते हुए या उन्हें छींकते हुए कम ही देखा गया है।
  • मौसमी फ्लू के यदि शिकार हुए हैं तो इसकी अवधि सामान्यतः 1 से 4 दिन की होती है।
  • कुछ मामले गंभीर होते हैं तो करीब 2 हफ्ते ठीक होने में लग जाते हैं।
  • सामान्यतः यदि मौसमी फ्लू और कोरोना वायरस के भी लक्षण हों तो इनमें अंतर करना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में डॉक्टर से संपर्क करना उचित होता है।

सामान्य सर्दी-जुकाम के क्या हैं लक्षण? (Symptoms of Common Cold)

कोरोना वायरस के लक्षणों के साथ मौसमी फ्लू के लक्षण तो आपने पढ़ लिए। अब आपको बताते हैं कि सामान्य सर्दी-जुकाम के कौन-कौन से लक्षण होते हैं?

  • नाक आपकी बहने लगती है या हमेशा भरी हुई रहती है।
  • बार बार छींक आती है।
  • गले में खराश हो जाती है।
  • आम लक्षणों की बात करें तो हल्का बुखार भी आ जाता है।
  • मांसपेशियों के साथ शरीर में दर्द होने लगता है।
  • सिर में दर्द की शिकायत होती है।
  • थकान का अनुभव होता है।
  • इसकी अवधि 2 से 3 दिनों की होती है।
  • मामला गंभीर हो तो 10 दिनों तक भी यह रह सकता है।
  • कोई विशेष उपचार इसका नहीं है।
  • लक्षणों के अनुसार कुछ दवाएं डॉक्टरों की ओर से दे दी जाती हैं।

इन बातों का रखें ध्यान (Mind this)

  • यह तो स्पष्ट हो चुका है कि कोरोना वायरस के जो लक्षण हैं, बहुत हद तक उनकी समानता मौसमी फ्लू और सामान्य सर्दी-जुकाम के लक्षणों से भी है। ऐसे में इनके बीच अंतर करना बहुत ही मुश्किल हो जाता है।
  • एक और ध्यान रखने वाली बात यह भी है कि किसी की नाक यदि भरी हुई या बहती हुई दिख रही है या फिर कोई छींक रहा है तो इसका कतई यह अर्थ आप नहीं निकाल सकते हैं कि वह व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित है।
  • बेहतर यही होगा कि इस तरह के मामलों में चिकित्सकों से आप तुरंत सलाह लें।
  • WHO के अनुसार कोशिश करें कि आप यह सलाह ऑनलाइन या फोन के जरिए लें, ताकि कोरोना वायरस से संक्रमण की स्थिति में अस्पताल पहुंचकर आप बाकी लोगों को संक्रमित ना करें।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!