क्या पालतू जानवरों से भी हो सकता है कोरोना संक्रमण? ये रहा आधिकारिक जवाब
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

कोरोना क्विक अपडेट

  • स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में अब तक कोरोना के 62,25,763 केस कन्फर्म हो चुके हैं, जिनमें 9,40,441 एक्टिव केस हैं, 51,87,825  लोग ठीक हो चुके हैं और 97,497 की मृत्यु हो चुकी है।
  • वेबसाइट वर्ल्डमीटर्स.इनफो के मुताबिक, भारत कुल केस और एक्टिव केस दोनों के लिहाज से अमेरिका के बाद दुनिया में दूसरे स्थान पर है, जबकि मृत्यु के मामले में अमेरका और ब्राजील के बाद तीसरे स्थान पर है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से पूरी दुनिया के 235 देशों और इलाकों में अब तक 3,32,49,563 लोग संक्रमित हुए हैं और 10,00,040 लोग दम तोड़ चुके हैं।
  • कोरोना के बारे में अफवाहों से बचने और पल-पल की सही जानकारी व ख़बरें प्राप्त करने के लिए जुड़े रहें https://tanman.org/ के साथ।

Can humans become infected with the COVID-19 from an animal source?

दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के बीच कोरोना वायरस के बचाव को लेकर एक सवाल जो बहुत पूछा जा रहा है, वह यह है कि क्या पालतू पशुओं से भी कोरोना वायरस का संक्रमण इंसानों में फैलने का अंदेशा है?

दरअसल, अमेरिका में एक चिड़ियाघर में कुछ बाघों और शेरों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद दो पालतू बिल्लियों के भी संक्रमित होने का मामला सामने आया है। इसके बाद यह तो स्पष्ट हो गया है कि इंसानों से जानवरों में कोरोना वायरस फैल सकता है। लेकिन क्या जानवरों से इंसानों में कोरोना वायरस फैल सकता है?

तो यहां हम आपको इसी सवाल का जवाब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और सेंटर फाॅर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंटेशन (CDC) के अनुसार दे रहे हैं।

क्या आपके पास पालतू जानवर हैं?

यदि आपने भी अपने घर में पालूत जानवरों को पाल रखा है, तो आपको ये चीजें जाननी चाहिए।

  • कोरोना वायरस दरअसल कई वायरसों को बहुत बड़ा परिवार है। इनमें से कुछ विशेष प्रकार के जानवरों को ही बीमार कर सकते हैं।
  • जो कोराना वायरस जानवरों को शिकार बनाते हैं, कई बार वे इंसानों में भी पहुंच सकते हैं, मगर ऐसा शायद ही कभी होता है।
  • हमें अब तक स्पष्ट तौर पर यह नहीं मालूम है कि कोरोना वायरस बीमारी 2019 (COVID-19) की उत्पत्ति कहां से हुई है। कुछ रिपोर्टों के मुताबिक, इसका सबसे पहला मामला चीन के वुहान में जिंदा जानवरों के बाजार से जुड़ा मिला है, जबकि कुछ रिपोर्टों के मुताबिक वुहान लैब से वायरस के लीक होने के कारण फैला है।
  • सीडीसी को अमेरिका में एक चिड़ियाघर में कुछ बाघों और शेरों के संक्रमित होने की जानकारी मिली है। साथ ही दो पालतू बिल्लियों के भी संक्रमित होने का मामला सामने आया है।
  • लेकिन सीडीसी को अमेरिका के बाहर बहुत कम ऐसे जानवरों की जानकारी मिली है, जिनमें कोविड-19 के शिकार लोगों के संपर्क में आने के कारण COVID-19 बीमारी पहुंचने की पुष्टि हुई हो।
  • अब तक इस बात के कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं कि साथ में रहने वाले जानवरों, जिसमें पालतू जानवर भी शामिल हैं, से इंसानों में कोरोना वायरस पहुंचा है।
  • अब तक इस बात के भी कोई प्रमाण नहीं मिले हैं कि आयात किये गये जानवरों या जानवरों से प्राप्त होने वाले उत्पादों से किसी में कोरोना वायरस पहुंचा है।
  • इस बारे में अब भी और शोध की आवश्यकता है कि जानवरों से इंसानों में कोरोना वायरस के पहुंचने की कितनी संभावना है।

आसपास जानवर हों तो कैसे रखें अपना ख्याल?

  • जानवरों को खाना खिलाने के बाद, उनके अपशिष्ट साफ करने के बाद और किसी भी तरीके का उनसे जुड़ा काम करने के बाद अच्छी तरह से हाथों को धो लें।
  • जानवरों के रहने वाली जगह को भी एकदम स्वच्छ और कीटाणुरहित रखें और पशुओं को भी साफ करते रहें।
  • पालतू जानवरों के स्वास्थ्य को लेकर किसी भी तरह की कोई शंका हो तो जानवरों के डाॅक्टर से तुरंत सलाह लें।

यदि आप बीमार हैं, तो ऐसे करें पालतू जानवरों की रक्षा

  • अमेरिका में सामने आए वाकये से यह स्पष्ट है कि संक्रमित इंसान से कुछ खास किस्म के पालतू जानवरों में भी कोरोना संक्रमण पहुंच सकता है, इसलिए अगर आप बीमार हैं, तो घर के किसी और सदस्य को पालतू जानवरों के देख-रेख की जिम्मेदारी सौंप दें।
  • इस दौरान अपने पालतू जानवरों से खेलना बंद कर दें। उन्हें हग नहीं करें। उन्हें किस न करें। उन्हें अपने हाथों से भोजन न खिलाएं या अपना भोजन उन्हें खाने को नहीं दें।
  • पालतू जानवरों का भी यदि आप वाकई ख्याल रखते हैं, तो बीमार रहने के दौरान उन्हें छूने से पहले और उन्हें छूने के बाद आप अपने हाथों को अच्छी तरह से धो लें।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!