जानिए, कितना सुरक्षित है मास्क की जगह कपड़े से अपने मुंह को ढँकना?
कृपया शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Recommendation Regarding the Use of Cloth Face Coverings

दुनिया भर में अपने पांव पसार चुके कोरोना वायरस का अब तक न तो कोई टीका बन पाया है और न ही कोई दवा ही इसके इलाज के लिए उपलब्ध है। ऐसे में बचाव के अलावा और कोई रास्ता इसका मुकाबला करने का नजर नहीं आता।

सेंटर फाॅर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिविंटेशन (CDC) की ओर से दुनिया भर के हालात पर नजर रखी जा रही है और इसे लेकर अध्ययन भी किये जा रहे हैं। ऐसे में सीडीसी ने मास्क की जगह कई जगहों पर मुंह ढकने के लिए हो रहे कपड़ों के इस्तेमाल को लेकर कुछ महत्वपूर्ण बातें बताई हैं, जिन्हें जानना हर किसी के लिए जरूरी है। यहां हम आपको इसी के बारे में बता रहे हैं।

पहले जानिए कि सीडीसी कोरोना को लेकर आपसे क्या अपील करता है?

  • CDC ने अपने कई अध्ययन, सर्वे और शोध में पाया है कि कोरोना वायरस का संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में पहुंच जा रहा है, लेकिन बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं, जिनमें इसका संक्रमण पहुंचने के बावजूद उनमें कोरोना वायरस के लक्षण काफी समय तक नजर नहीं आ रहे हैं।
  • इसका मतलब यह हुआ कि लक्षण पता न चलने की स्थिति में यदि कुछ लोग एक-दूसरे के बहुत करीब रहते हैं, तो संभव है कि संक्रमित व्यक्ति के बोलने, खांसने, छींकने या फिर जोर से हंसने से उसके अंदर मौजूद वायरस उसके आसपास मौजूद सभी लोगों में पहुंच जाए।
  • ऐसे में किसी व्यक्ति में संक्रमण नजर आये या न आये, उनसे कम से कम छः फीट की दूरी बनाकर रखना जरूरी है।

कपड़े से मुंह ढंकने को लेकर क्या कहना है CDC का?

  • CDC ने लोगों से अपील की है कि वे कोरोना वायरस से खुद के बचाव के लिए किसी साधारण कपड़े से अच्छी तरह से अपने मुंह को कवर कर लें। इससे वे कोरोना वायरस की चपेट में आने से बच सकेंगे और यदि उनके अंदर वायरस पहुंचा है और इसके लक्षण नहीं दिख रहे हैं, तो दूसरे लोगों तक इसे पहुंचने से रोक सकेंगे।
  • CDC ने साफ कर दिया है कि घर में कपड़े से मुंह को ढकने के लिए तैयार किये जा रहे मास्क या फिर कपड़े से बनाये जा रहे किसी भी तरह के उत्पाद को मुंह पर यदि ठीक से बांध लिया जाएं या लपेट लिया जाए, तो इससे कोरोना वायरस शरीर में प्रवेश नहीं कर पायेगा।
  • CDC के मुताबिक यह सस्ता भी है और बड़े पैमाने पर वायरस को शरीर में पहुंचने से रोक भी सकता है।
  • CDC का यह भी कहना है कि सर्जिकल मास्क या फिर एन-95 मास्क को उन स्वास्थ्यकर्मियों व डाॅक्टरों के लिए बचाकर रखना जरूरी है, जो कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे हैं और जिन्हें ये मास्क पहनने की सलाह सीडीसी की ओर से दी जा रही है।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!