कोरोना वायरस से बचने के लिए ये 13 यूनानी दवाएं हो सकती हैं उपयोगी
कृपया शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

कोरोना क्विक अपडेट

  • स्वास्थ्य मंत्रालय के 14 मार्च 2021 के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में अभी कोरोना के 210544 एक्टिव केस हैं, 10989897 लोग ठीक हो चुके हैं और 158607 की मृत्यु हो चुकी है।
  • वेबसाइट वर्ल्डमीटर्स.इनफो के मुताबिक, भारत कोरोना से मृत्यु के मामले में अमेरिका, ब्राजील और मेक्सिको के बाद चौथे स्थान पर है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से पूरी दुनिया के 223 देशों और इलाकों में अब तक 118,754,336 लोग संक्रमित हुए हैं और 26,34,370 लोग दम तोड़ चुके हैं।
  • कोरोना के बारे में अफवाहों से बचने और पल-पल की सही जानकारी व ख़बरें प्राप्त करने के लिए जुड़े रहें https://tanman.org/ के साथ।

These 13 Unani Medicines Can Be Useful To Avoid Corona Virus

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने धीरे-धीरे दुनिया को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। ऐसे में सावधानी को इस वायरस से बचाव का सर्वोत्तम उपाय माना जा रहा है। भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के तहत काम करने वाली अनुसंधान परिषदों ने भारतीय पारंपरिक औषधि प्रणालियों – आयुर्वेद, होम्योपैथी एवं यूनानी पर आधारित एडवायजरी जारी की है।

आयुष मंत्रालय द्वारा 29 जनवरी 2020 को जारी एक प्रेस रिलीज के मुताबिक, कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण प्रबंधन में निम्नलिखित यूनानी दवाएं उपयोगी साबित हो सकती हैं-

  1. शरबतउन्नाब 10-20 मिली दिन में दो बार
  2. तिर्यकअर्बा 3-5 ग्राम दिन में दो बार
  3. तिर्यक नजला 5 ग्राम दिन में दो बार
  4. खमीरा मार्वारिद 3-5 ग्राम दिन में एक बार
  5. स्कैल्प और छाती पर रोगन बाबूना / रोगन मॉम / कफूरी बाम से मालिश करें
  6. नथुने में रोगन बनाफशा धीरे लगाएं
  7. अर्क अजीब 4-8 बूंद ताजे पानी में लें और दिन में चार बार इस्तेमाल करें
  8. बुखार होने की स्थिति में हब ए एकसीर बुखार 2 की गोलियां गुनगुने पानी के साथ दिन में दो बार लें।
  9. 10 मिली शरबत नाजला 100 मिली गुनगुने पानी में दो बार रोजाना पिएं।
  10. क़ुरस ए सुआल 2 गोलियों को प्रतिदिन दो बार चबाना चाहिए
  11. शरबत खाकसी के साथ-साथ निम्नलिखित एकल यूनानी दवाओं के अर्क का सेवन करना बहुत उपयोगी है :
    • चिरायता
    • कासनी
    • अफसन्टीस
    • नानखावा
    • गावजावेन
    • नाम छाल
    • सादकूफी
  12. निम्नलिखित यूनानी दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है –
    • बेहिदाना – मात्रा 3 ग्राम
    • उन्नाब – मात्रा 7
    • सपिस्तान – मात्रा 7
    • दारचीनी – मात्रा 3 ग्राम
    • बनाफसा – मात्रा 5 ग्राम
    • बर्ज-ए-गोजाबान – मात्रा 7 ग्राम
  13. गले में जख्म होने पर निम्नलिखित यूनानी दवाओं का इस्तेमाल करें :
    • खसखस – मात्रा 12 ग्राम
    • बाजरूलबंज – मात्रा 12 ग्राम
    • पोस्ट खसखस – मात्रा 12 ग्राम
    • बर्ज-ए-मोर्द (हबुलास) – मात्रा 12 ग्राम
    • तुख्म-ए-काहू मुकासर – मात्रा 12 ग्राम
    • गुलेसुर्ख – मात्रा 12 ग्राम

आहार संबंधी सलाह : यूनानी चिकित्सकों के सुझावों के अनुसार सुपाच्य, हल्का एवं नरम आहार के लिए सलाह दी जाती है।

*** ये सभी सलाहें केवल सूचना के लिए हैं और इन्हें केवल पंजीकृत यूनानी चिकित्सकों के परामर्श से ही अपनाएं।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!