जानिए पपीते के पत्ते के जूस के फायदे और नुकसान के बारे में
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Benefits and harms of Papaya Leaves Juice

पपीता (Papaya) तो आपने जरूर खाया होगा, मगर आपसे यदि यह सवाल किया जाए कि क्या आपने कभी पपीते के पत्ते का जूस पीया है, तो शायद आपका यही जवाब होगा कि नहीं। तो यहां हम आपको बता रहे हैं कि पपीते का जूस आखिर होता क्या है? इसे कैसे तैयार कर सकते हैं? इसके फायदे और नुकसान क्या हैं?

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर इसे सब्सक्राइब करें


ये है पपीते के पत्ते का जूस (Papaya Leaves Juice)

  • पपीते के पत्ते को अच्छी तरह साफ करके पीसकर या निचोड़कर इसे तैयार करते हैं।
  • पपीते की तरह इसमें भी औषधीय गुण पाये जाते हैं।
  • कई तरह के संक्रमण (infection) के साथ एलर्जी आदि में यह लाभकारी होता है।
  • पीने के लिहाज से भी यह बेहद उपयोगी जूस माना जाता है।

पपीते के पत्ते के जूस में मौजूद पोषक तत्व (Nutrients in Papaya Leaves Juice)

  • विटामिन ए, बी और सी इसमें पाये जाते हैं।
  • कैल्शियम के साथ फास्फोरस और आयरन जैसे खनिज इसमें मौजूद होते हैं।
  • इसमें रक्त को शुद्ध करने वाले कई तरह के फाइटोकैमिकल्स जैसे कि सैपोनिन (saponin), अल्कलाॅइड (alkaloids), टैनिन (tannin) और फ्लेवोनोइड (flavonoid) आदि भी होते हैं।

ऐसे बनाएं पपीते के पत्ते का जूस (How to prepare Papaya Leaves Juice)

  • 5 से 10 पपीते के ताजे पत्ते ले लें।
  • एक ब्लेंडर भी लें।
  • इन पत्तियों को अच्छी तरह से धो लें।
  • इनके छोटे-छोट टुकड़े कर दें और ब्लेंडर में डाल दें।
  • अच्छी तरह से पिसने के बाद इसे किसी कपड़े या छन्नी की मदद से छान लें।
  • इस तरह से जो रस निकला, वही आपका पपीते के पत्ते का जूस है।

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर इसे सब्सक्राइब करें


पपीते के पत्ते के जूस से लाभ (Benefits of Papaya Leaves Juice)

  1. पपीते के पत्ते के जूस में एंटीऑक्सीडेंट व सक्रिय यौगिकों के साथ पपैन (papain), काय्मोपपैन (chymopapain) और फाइबर होने की वजह से भोजन आसानी से तो पचता ही है, साथ ही पाचन तंत्र भी मजबूत बना रहता है।
  2. पपीते के पत्ते के जूस में मौजूद पोषक तत्वों की वजह से शरीर में कोलेस्ट्राॅल या तो जमा नहीं हो पाता है और यदि जमा होता है तो कम हो जाता है, जिससे लिवर फ्री रेडिकल्स की चपेट में नहीं आता है और स्वस्थ रहता है।
  3. नियमित रूप से पपीते के पत्ते का जूस पीया जाए तो इससे शरीर में टी-लिम्फोसाइट (T-lymphocytes) की मात्रा बढ़ जाती है, जो मस्तिष्क को एकदम एक्टिव रखकर तनाव नहीं पैदा होने देता है। इसमें एंटी-ट्यूमर गुण भी होते हैं और ये शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity power) को बढ़ाते हैं।
  4. पपीते के पत्ते में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट से डेंगू (dengue) के जीवाणु मरते हैं और कम भी होते हैं। इसके सेवन से डेंगू में मांसपेशियों में दर्द, तेज बुखार और जोड़ों के दर्द आदि में राहत मिलती है। डेंगू बीमारी के दौरान इसके सेवन से प्लेटलेट काउंट तेज़ी से बढ़ते हैं और मरीज़ की हालत में तेज़ी से सुधार होता है।
  5. पपीते के पत्ते में सैपोनिन, एल्कलाॅइड, फ्लोवोनोइड और टैनिन की वजह से त्वचा को पोषण मिलने से वे दमकते रहते हैं और साथ में विटामिन ए, सी और अन्य ऑक्सीडेंट की उपस्थिति की वजह से ये रक्त परिसंचरण को सुचारु तरीके से काम करने देकर त्वचा की झुर्रियों, दाग-धब्बों और झाईयों को भी दूर कर देते हैं।
  6. पपीते के पत्ते के रस को यदि आप पके हुए पपीते के साथ मिलाकर अपनी त्वचा (skin) पर लगाते हैं, तो इससे त्वचा का रंग गोरा होने लगता है। साथ ही यह बंद रोम छिद्रों को भी खोल देता है, जिससे त्वचा की सुंदरता बढ़ जाती है।
  7. सैपोनिन और पाॅलीफेनोल आदि की मौजूदगी की वजह से पपीते के पत्ते के जूस के सेवन से टाइप टू मधुमेह (diabetes) के साथ, गठिया, यूटीआई (UTI), दमा (Asthma), निमोनिया (Pneumonia), गैस्ट्रिक अल्सर और पीरियोडोंटाइटिस आदि बीमारियों में भी बड़ी राहत मिलती है।
  8. पपीते के पत्ते का जूस बालों में लगाने से बालों की गंदगी दूर होने लगती है, जिससे डैंड्रफ की समस्या से आजादी मिलने के साथ सिर में खुजली की शिकायत भी दूर हो जाती है। यह सिर की त्वचा में नमी बनाये रखने में मददगार होता है।

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर इसे सब्सक्राइब करें


पपीते के पत्ते का जूस पीने से नुकसान (Harms of having Papaya Leaves Juice)

कुछ विशेष परिस्थितियों में ही पपीते के पत्ते का जूस पीने से नुकसान हो सकता है।

  1. गर्भवती होने के दौरान या गर्भधारण करने के दौरान इसे पीने से गर्भपात का खतरा होता है।
  2. यदि पपीते के पत्ते के प्रति त्वचा अधिक संवेदनशील होगी, तो जलन और चकते आदि की समस्या हो जाती है।
  3. जिन्हें इससे एलर्जी होती है, उन्हें इसका सेवन ज्यादा नहीं करना चाहिए।
  4. दवाओं का सेवन कर रहे हैं, तो इसे पीने से पहले एक बार अपने डाॅक्टर की राय जरूर ले लेनी चाहिए।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर इसे सब्सक्राइब करें


error: Content is protected !!