हार्ट ब्लॉकेज के कारण, लक्षण और टॉप 8 घरेलू उपचार
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Reasons, symptoms and top 8 home remedies for heart blockage

आज के समय में दिल की बीमारी से केवल बड़े बुजुर्ग ही नहीं, बल्कि जवान और किशोर भी प्रभावित होने लगे हैं.। कुछ हद तक तो इसके लिए हमारा खान-पान तो कुछ हद तक हमारी जीवनशैली भी जिम्मेदार है। हमने खुद को सुविधाजनक जिंदगी जीने के लिए इस तरह से ढाल दिया है कि हार्ट ब्लॉकेज जैसी समस्या अब हर उम्र के लोगों में देखी जाने लगी है। यहां हम आपको हार्ट ब्लॉकेज के कारण, इसके लक्षण और इसके घरेलू उपचार के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

हार्ट ब्लॉकेज की वजह (Reasons behind heart blockage)

  • कुछ लोगों में यह जन्मजात होता है।
  • दिल से संबंधित बीमारियों के कारण भी हार्ट ब्लॉकेज होता है।
  • दिल की मांसपेशियों में सूजन आने पर हार्ट ब्लॉकेज हो जाता है।
  • दिल की सर्जरी करवाई जाए तो भी हार्ट ब्लॉकेज हो सकता है।
  • दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण भी हार्ट ब्लॉकेज की समस्या होती है।
  • शरीर में यदि मैग्नीशियम, पोटेशियम और कैल्शियम की मात्रा कम या ज्यादा हो जाए तो भी हार्ट ब्लॉकेज हो सकता है।

हार्ट ब्लॉकेज के लक्षण (Symptoms of heart blockage)

  • सीने में दर्द का अनुभव होना।
  • चक्कर आना।
  • बेहोशी का अनुभव होना।
  • शरीर का बहुत जल्द थक जाना।
  • सांस लेने में दिक्कत होना।

हार्ट ब्लॉकेज को दूर करने के घरेलू उपाय (Home remedies for heart blockage)

(1) लाल मिर्च से (Red chilli powder)

  • लाल मिर्च में एंटी डायबिटिक, एंटी हाइपरटेंसिव और एंटीओबेसिटी क्वालिटी होती है। तनाव, मोटापा और डायबिटीज के कारण ही हार्ट ब्लॉकेज की समस्या ज्यादा होती है। ऐसे में लाल मिर्च का इस्तेमाल करके हार्ट ब्लॉकेज को दूर किया जा सकता है।
  • इसके लिए एक कप गुनगुने पानी में एक चम्मच लाल मिर्च पाउडर को अच्छी तरह से घोलकर उसे कुछ हफ्तों तक पीना है। एक-एक दिन छोड़कर इसे पीना होगा।

(2) हल्दी से (Turmeric)

  • हल्दी आयुर्वेदिक दवाई के तौर पर इस्तेमाल में आती है। इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीकार्सिनोजेनिक, और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो कि आपके दिल को सुरक्षित बनाते हैं। हार्ट ब्लॉकेज को दूर करने में हल्दी मददगार होता है।
  • इसके लिए आपको एक कप दूध गर्म करके उसमें एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर रोजाना पीना होगा।

(3) अंगूर से (Grapes)

  • अंगूर में एक तो एंटीऑक्सीडेंट होते हैं और साथ में इसमें फाइटोकेमिकल होता है जो कि आपके दिल को ना केवल दुरुस्त रखता है, बल्कि हार्ट ब्लॉकेज की आशंका को भी दूर कर देता है।
  • आपको दिन में एक से दो बार 50 से 100 ग्राम अंगूर इसके लिए खाना पड़ेगा। आप चाहें तो इसका जूस भी बनाकर पी सकते हैं।

(4) तुलसी से (Tulsi)

  • तुलसी की खासियत है कि यह तनाव को दूर करने के गुणों के साथ एंटीऑक्सीडेंट से परिपूर्ण होता है, जिस वजह से दिल की बीमारियां दूर ही रहती हैं।
  • इस वजह से हार्ट ब्लॉकेज नहीं होता है।
  • तुलसी ना केवल हाइपरटेंशन से बचाता है, बल्कि दिल का दौरा पड़ने से भी बचाव करता है।
  • इसके लिए आपको मुट्ठी भर तुलसी के पत्ते लेकर इसे पानी में डालकर उबाल लेना है। इसके बाद आपको इसमें एक चम्मच शहद और नींबू के रस की कुछ बूंदें मिला देनी है। ठंडा होने पर आपको एक कप पानी को पी जाना है।
  • रोजाना इसका सेवन करने से आपको लाभ अधिक मिलेंगे।

(5) नींबू से (Lemon)

  • एंटीऑक्सीडेंट गुण की वजह से नींबू ना केवल आपके शरीर में रक्त के प्रवाह को बनाए रखता है, बल्कि कोलेस्ट्रोल और रक्तचाप को भी नियंत्रित रखता है।
  • हार्ट ब्लॉकेज को दूर रखने में यह बहुत ही मददगार होता है।
  • इसके लिए आपको एक गिलास पानी को गर्म कर लेना है और उसमें एक नींबू का रस, एक चम्मच शहद और एक चम्मच काली मिर्च पाउडर मिला देना है। इसके ठंडा होने पर आपको इसे पी लेना है।
  • दिन में एक से दो बार इसे पीने से आपको लाभ मिलता रहेगा।

(6) लहसुन से (Garlic)

  • लहसुन का इस्तेमाल करके हाई ब्लड प्रेशर कोलेस्ट्रोल और एथेरोस्क्लेरोसिस को कंट्रोल किया जा सकता है, जिसका सीधा लाभ आपके दिल को मिलता है।
  • इसके लिए एक कप दूध में लहसुन की दो या तीन कलियां ले लेनी है और इस दूध को थोड़ी देर उबालकर ठंडा हो जाने पर इसे पी लेना है।
  • रोजाना आपको इसे पीना चाहिए। भोजन बनाते वक्त आपको लहसुन का प्रयोग जरूर करना चाहिए।

(7) दालचीनी से (Cinnamon)

  • दालचीनी में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण तो होते ही हैं, साथ ही यह खराब कोलेस्ट्रॉल को शरीर से कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रोल के लेवल को बढ़ाता है। इससे दिल एकदम स्वस्थ रहता है और हार्ट ब्लॉकेज के लिए यह सबसे अच्छे उपचारों में भी माना जाता है।
  • इसके लिए आपको एक या दो चम्मच शहद में एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पेस्ट बना लेना है और हर दिन इसका सेवन करना है। इससे आपको लाभ दिखने शुरू हो जाएंगे ।

(8) अनार से (Pomegranate)

  • धमनियों को लचीला बनाए रखने में और रक्त वाहिकाओं में जो सूजन होती है, उसे कम करने में अनार का जूस बहुत ही फायदेमंद होता है।
  • यह एथेरोस्क्लेरोसिस को भी कम करता है, जो कि दिल संबंधी बीमारियों के लिए मुख्य रूप से उत्तरदायी है।
  • इससे दिल में और दिमाग में रक्त का फ्लो अच्छी तरह से बना सकता है, जिससे हार्ट ब्लॉकेज नहीं होता है।
  • इसके लिए एक या दो अनार लेकर उसे काट लेना है और उसके दाने को निकालकर मिक्सर में डालकर जूस बना लेना है। इसका जूस आपको पीना है।
  • चाहें तो आप इसके दानों को खा भी सकते हैं।
  • रोजाना आपको एक गिलास दूध पीना है। इससे हार्ट ब्लॉकेज की आशंका एकदम कम हो जाएगी।

हार्ट ब्लॉकेज से कैसे बचें? (Prevention tips for heart blockage)

  • कोलेस्ट्रोल को हमेशा नियंत्रित रखने का प्रयास करें।
  • ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहे तो अच्छा रहेगा।
  • संतुलित और स्वस्थ आहार लेना सुनिश्चित करें।
  • नियमित रूप से शारीरिक और व्यायाम करते रहें।
  • शराब का सेवन एकदम ना करें।
  • धूम्रपान से भी दूर रहें।
  • डायबिटीज को नियंत्रण में रखें।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!