इन 7 आसान उपायों से दूर करें अनिद्रा की बीमारी
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Top 7 home remedies to treat Insomnia

यदि आप उन लोगों में से एक हैं, जिन्हें रात में नींद नहीं आती है और काफी समय से ऐसा होता आ रहा है तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए, क्योंकि आप अनिद्रा का शिकार हो सकते हैं। यह एक ऐसी चीज है जो आपको मौत के दरवाजे तक भी ले जा सकती है। अनिद्रा आखिर है क्या? यह क्यों होती है? इसके लक्षण क्या हैं और इसका इलाज कैसे किया जा सकता है? इन सबके बारे में हम आपको विस्तार से यहां जानकारी दे रहे हैं।

अनिद्रा क्या है? (What is Insomnia)

शरीर को आराम देने के लिए नींद बहुत जरूरी है, किंतु जो लोग अनिद्रा की चपेट में आते हैं, उन्हें नींद ही नहीं आती है या फिर वे ठीक तरीके से नहीं सो पाते हैं। इस वजह से उन्हें दिनभर थकान महसूस होती है। अंग्रेजी में इसे Insomnia के नाम से जानते हैं। यदि यह समस्या अधिक दिनों तक रह जाए तो कई प्रकार की शारीरिक परेशानियां इससे पैदा हो सकती हैं। मुख्यतः अनिद्रा के दो प्रकार होते हैं।

अनिद्रा के प्रकार (Types of Insomnia)

अनिद्रा मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है। पहला है एक्यूट इनसोम्निया और दूसरा है क्रॉनिक इनसोम्निया।

(1) एक्यूट इनसोम्निया (Acute Insomnia)

जो लोग इसका शिकार होते हैं, उन्हें कुछ दिनों तक या एक-दो हफ्तों तक ठीक से नींद नहीं आती है। ऐसा किसी मानसिक दबाव या तनाव की वजह से हो सकता है। धीरे-धीरे यह खुद खत्म हो जाता है।

(2) क्रॉनिक इनसोम्निया (Chronic Insomnia)

यह अनिद्रा का गंभीर प्रकार है। जो लोग इसकी चपेट में आते हैं, वे महीने भर तक ठीक से सो नहीं पाते हैं, क्योंकि उन्हें नींद ही नहीं आती है। माना जाता है कि शरीर में किसी गंभीर बीमारी की वजह से भी यह हो सकता है।

अनिद्रा के कारण (Reasons behind Insomnia)

  • अवसाद पालने की वजह से।
  • अत्यधिक चिंता के कारण।
  • तनाव लेने की वजह से।
  • सीने में जलन की वजह से।
  • अस्थमा या हृदयाघात की चपेट में होने के कारण।
  • अल्जाइमर्स या पार्किंसन बीमारियों से ग्रसित होने की वजह से।
  • गठिया या सिरदर्द का शिकार होने से।
  • किसी दवाई के दुष्प्रभाव के कारण।
  • रजोनिवृत्ति की वजह से।
  • स्ट्रोक के कारण।

अनिद्रा के लक्षण (Symptoms of Insomnia)

यदि आप अनिद्रा की बीमारी के शिकार हो गए हैं तो इसके लिए यह जानना जरूरी है कि आपको वास्तव में अनिद्रा की शिकायत है या नहीं। यहां बताए गए लक्षणों से आप अनिद्रा को पहचान सकते हैं।

  • सोने से पहले काफी देर तक नींद नहीं आना।
  • नींद कुछ देर के लिए ही आना।
  • रात में बहुत देर तक जगे रहना।
  • सुबह उठने पर भी महसूस होना कि सोए ही नहीं हैं।
  • सुबह नींद जल्दी खुल जाना।

अनिद्रा से बचाव के उपाय (Tips to prevent Insomnia)

  • आपको समय से सोना चाहिए और सुबह समय से उठना चाहिए।
  • भारी, तले हुए और मसालेदार भोजन से तो बिल्कुल दूर ही रहना चाहिए।
  • यदि आप शराब या किसी भी अन्य नशीले पदार्थ का सेवन कर रहे हैं तो उसे बंद कर दें।
  • हफ्ते में दो से तीन दिन आपको अपने पूरे शरीर की मसाज करानी चाहिए।
  • हर दिन सुबह पैदल चलने की कोशिश आपको करनी चाहिए।
  • कमरे को साफ-सुथरा रखना भी जरूरी है, क्योंकि गंदगी आपका मूड बिगाड़ सकती है, जिससे भी अनिद्रा की शिकायत होती है।
  • तनाव को दूर रखने की कोशिश करें और हमेशा खुश रहें। इससे अनिद्रा की बीमारी आपको परेशान नहीं करेगी।

अनिद्रा के टॉप 7 घरेलू उपचार (Top 7 Home Remedies for Insomnia)

अगर आपको अनिद्रा की बीमारी हो गई है, तो यहां जो उपाय हम आपको बता रहे हैं, इनका पालन करके आप इससे बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं।

(1) जीरा से

  • जीरा दरअसल एक प्राकृतिक औषधि है। इसका इस्तेमाल काफी समय से नींद संबंधी विकारों को दूर करने के अलावा रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए भी होता आया है।
  • इसे इस्तेमाल में लाने के लिए आपको इतना जीरा भून लेना है जिससे कि आधा चम्मच जीरा पाउडर पीसने पर तैयार हो जाए।
  • इसके बाद एक केले को लेकर आपको उसे पूरी तरीके से मैश कर लेना है और इस मैश किये हुए केले में जीरा पाउडर मिलाकर आपको इसका सेवन करना है।
  • कुछ दिनों तक आप सोने से एक-दो घंटे पहले यदि इसका सेवन कर लेंगे तो आपको अनिद्रा की समस्या से निजात मिल जाएगी।

(2) लहसुन से (Garlic)

  • लहसुन भी नींद ना आने की समस्या में बेहद कारगर होता है। यह अवसाद और चिंता को भी कम करता है, जिससे नींद अच्छी तरह से आती है।
  • इसे इस्तेमाल में लाने के लिए आपको लहसुन की एक कली को हाथ से मसलकर एक कप दूध में मिला लेना है।
  • इसमें आपको एक चौथाई कप पानी डालकर तब तक इसे उबालना है जब तक कि यह एक कप ना रह जाए।
  • रात को सोने से कुछ मिनट पहले आपको लहसुन वाले इस दूध को पी लेना है। कुछ दिनों में आपको फर्क दिखने लगेगा।

(3) नारियल तेल से (Coconut oil)

  • यदि आप नारियल के तेल से हर दिन कम-से-कम एक बार पूरे शरीर का मसाज करते हैं तो इससे आपकी मांसपेशियों को बहुत आराम पहुंचता है।
  • इससे आपकी नींद में सुधार आता है।

(4) लैवेंडर के तेल से (Lavender oil)

  • जो लोग नींद नहीं आने की समस्या से परेशान होते हैं, उनमें नींद लाने में लैवेंडर का तेल बेहद प्रभावी होता है।
  • इसके लिए आपको रात में सोने से थोड़ी देर पहले कमरे के किसी कोने में इलेक्ट्रॉनिक डिफ्यूजर रख देना है। इसे ऑन करने के बाद इसके ऊपर जो खाली जगह होती है, उसमें आपको पानी भर देना है और इसमें लेवेंडर तेल की तीन से चार बूंदें डाल देनी हैं।
  • कुछ दिनों में आपको इससे लाभ मिलने लगेगा।

(5) केले से (Banana)

  • केला एक ऐसा फल है, जिसमें बहुत सारे औषधीय गुण होते हैं।
  • इसमें सेरोटोनिन और मेलाटोनिन जैसे पोषक तत्व की भी मौजूदगी होती है, जो कि अच्छी नींद लाने में मददगार होते हैं।
  • केले में मैग्नीशियम भी प्रचुर मात्रा में होता है जो कि मांसपेशियों को आराम देकर नींद लेने में सहायक होता है।
  • जो लोग अनिद्रा से पीड़ित होते हैं, यदि वे हर दिन सोने से करीब डेढ़ घंटे पहले दो से तीन केले खा लें तो उनकी अनिद्रा की समस्या दूर हो सकती है।

(6) दूध से (Milk)

  • अच्छी नींद लाने में दूध भी बड़ा सहायक होता है। वह इसलिए कि इसमें त्रिप्टोफैन नामक एक एमिनो एसिड की मौजूदगी होती है जो कि अच्छी नींद लाने में सहायक होता है।
  • यदि आप रोज सोने से 10 से 15 मिनट पहले दूध को हल्का गर्म करके एक गिलास दूध पी लें तो इससे भी आपकी अनिद्रा की समस्या दूर हो सकती है।
    मेथी से- मेथी की यह खासियत होती है कि इसमें एंटी डिप्रेशन गुण होते हैं। यह डिप्रेशन को और चिंता को दूर करके अच्छी नींद लाने में सहायक होता है।
  • इसके लिए आपको एक गिलास पानी में एक चम्मच मेथी का बीज डालकर रात में छोड़ देना चाहिए और हर सुबह इस पानी को छानकर पीना चाहिए।
  • कुछ हफ्ते तक इस उपाय को करने से आपको लाभ दिखने शुरू हो जाएंगे।

(7) केसर से

  • अनिद्रा का इलाज केसर से भी किया जा सकता है, क्योंकि यह अवसाद और चिंता को दूर करता है। इस तरह से यह अच्छी नींद को बढ़ावा देता है।
  • इसके लिए आपको एक गिलास दूध में सात से आठ केसर के रेशे को मिलाकर अच्छी तरह से गर्म करना है।
  • हल्का ठंडा होने पर केसर वाले इस दूध को आपको रोजाना सोने से पहले पी लेना है। कुछ दिनों तक ऐसा करने से आपको इसके लाभ नजर आने लगेंगे।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!