जानिए, कितना ज़रूरी है भोजन को ठीक से चबा कर खाना?
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Benefits of properly chewing the food

बड़े-बुजुर्ग हमेशा से कहते आए हैं कि भोजन को अच्छी तरह से चबाकर ही खाना चाहिए। भोजन को चबाकर खाना शरीर के लिए लाभदायक होता है। यहां हम आपको बता रहे हैं कि भोजन को चबाकर खाना आखिर क्यों जरूरी होता है? साथ ही हम आपको यह भी बता रहे हैं कि भोजन को चबाकर खाने से किन लोगों को किस तरह का लाभ मिला है। इसके अलावा चबाने के तरीकों और ठीक से ना चबाकर खाने से होने वाले नुकसान के बारे में भी हम आपको जानकारी दे रहे हैं।

भोजन को चबाकर खाने के फायदे (Benefits of chewing)

  • दांत शरीर में भोजन को ठीक से चबाकर खाने के लिए ही दिए गए हैं। इसलिए दांतों का काम आंतों से लेना ठीक नहीं है। इससे आपकी आतें स्वस्थ रहेंगी।
  • पाचन की प्रक्रिया मुंह से ही शुरू हो जाती है। इसलिए जब आप भोजन को अच्छी तरह से चबा कर खाते हैं तो भोजन के छोटे-छोटे टुकड़े हो जाते हैं और यह मुंह की लार से मिल जाते हैं, जिससे इसका पचना आसान हो जाता है। इसमें पाचक रस मिल जाते हैं।
  • भोजन को अच्छी तरह से चबाकर खाने से आपको इसका स्वाद भी मिलता है और प्रसन्नता की अनुभूति होती है।
  • भोजन को चबाकर खाने से मानसिक मजबूती मिलती है।
  • इससे मन में एकाग्रता आती है।
  • भोजन को ठीक से चबाकर खाने से शांति की भी प्राप्ति होती है।

भोजन को ठीक से चबाकर ना खाने से होने वाले नुकसान (Loss in case of not chewing properly)

  • पेट संबंधी लोग होने लगते हैं।
  • दांतों से संबंधित बीमारियां भी होने लगती हैं।
  • स्नायु मंडल पर भी इसका बुरा असर पड़ता है।

चबाने का महत्व (Chewing’s importance)

  • चबाने की कला का प्रवर्तक होरेस फ्लैचर को कहा जाता है। उन्हें इन्फ्लूएंजा की बीमारी हो गई थी, लेकिन दवाएं कर-करके भी वह ठीक नहीं हो रही थी। भोजन को चबाकर खाने से उन्हें बहुत लाभ हुआ और 150 वर्षों तक वे जीवित रहे। इसलिए उन्हीं के नाम पर फ्लैचरिज्म यानी कि चबानाबाद अस्तित्व में आया।
  • स्विट्जरलैंड के डॉक्टर आइजक ने बहुत पहले पेट की बीमारी से ग्रसित एक मरीज को खूब चबाकर भोजन करने के लिए कहा था, जिससे उसकी बीमारी ठीक हो गई थी।
  • इंग्लैंड के प्रधानमंत्री ग्लैडस्टन ने अपने दीर्घायु होने का रहस्य भोजन की हर कौर को 32 बार चबाकर निगलना बताया था।

भोजन को चबाते वक्त रखें ध्यान (Know this while chewing)

  • भोजन को ऐसे चबाएं कि आवाज नहीं आए।
  • अपने होठों को बंद करके दांतो से भोजन को धीरे-धीरे इस तरह से चबाना चाहिए कि वह तरल बनकर अपने आप गले से नीचे उतर जाए।
  • रोटी को यदि आप किसी तरल पदार्थ के साथ मिलाकर खाते हैं तो वह जल्दी नहीं पचती। रोटी को खूब चबा चबाकर ही खाना चाहिए। इसे तरल बनाकर इसे निगल लेना चाहिए। कुछ समय के लिए तरल पदार्थ को मुंह में घुमा-फिरा लेना चाहिए। उसके बाद ही गले से नीचे उतारना चाहिए।
  • भोजन को जितनी देर मुंह में रखेंगे, उसे पचने में उतना ही कम वक्त लगेगा। इस तरह से उसमें जो पोषक तत्व मौजूद हैं, वे आपके शरीर को मिल पाएंगे।  

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर इसे सब्सक्राइब करें


error: Content is protected !!