इन गंभीर बीमारियों की ओर इशारा करता है आंखों का फड़कना
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Eye blinking could cause these serious diseases

अक्सर आंख फड़कने पर लोग इसके शुभ या अशुभ परिणाम के बारे में बात करने लगते हैं, लेकिन सच्चाई ये है कि आंखों का फड़कना वास्तव में आंखों की कई गंभीर बीमारियों (serious diseases of eyes) की ओर इशारा करता है, जिनके बारे में यहां हम आपको बता रहे हैं।

क्यों फड़कती हैं आंखें? (Why do eyes blink)

  • आंखों की मांसपेशियों में संकुचन की वजह से।
  • अत्यधिक तनाव (hypertension) लेने से।
  • आंखों पर अधिक जोर (pressure on eyes) पड़ने से।
  • आंखों का पानी सूखने से।
  • शराब व सिगरेट आदि के अधिक सेवन से।
  • काॅफी का सेवन अधिक करने से।

इन बीमारियों का खतरा (Risk of these diseases)

  • ब्लफेरोस्पाज्म (blepharospasm) या डिस्टोनिया (dystonia) का खतरा हो सकता है। इसमें आंखें जरूरत से ज्यादा यानी कि एक मिनट में 12-20 बार की बजाय 25 से भी ज्यादा बार झपकने लगती हैं।
  • इस बीमारी की चपेट में आने पर आंखें भारी महसूस होने लगती हैं।
  • आंखों का पानी भी (water in eyes) सूखने लगता है।
  • आंखें थकी-थकी भी दिखती हैं।
  • आंखों का फड़कना पार्किसंस (parkinson’s) का भी संकेत हो सकता है।
  • यह स्ट्रोक (stroke) का भी संकेत देता है।
  • बेल्स पाल्सी (bell’s palsy) की ओर यह इशारा करता है।
  • टोरेट्स सिंड्रोम (tourette syndrome) भी इसकी वजह हो सकता है।
  • कंजंक्टीवाइटिस (conjunctivitis) के कारण भी ऐसा हो सकता है।

डाॅक्टर से तुरंत मिलें (Meet your doctor immediately)

  • यदि आंखों में दर्द (pain in eyes) हो।
  • यदि आंखों में चुभन महसूस हो।
  • यदि आंखों से लगातार पानी निकले।
  • इलाज न कराने पर आंखों की रोशनी जाने का भी खतरा बना रहता है।

आंखों के लिए उचित आहार (Proper diet for eyes)

  • सेब (apple), पपीता, आंवला व हरी पत्तेदार सब्जियां (green vegetables) खूब खाएं।
  • दूध (milk) का सेवन नियमित रूप से करें।
  • गाजर जरूर खाएं। इसमें मौजूद विटामिन ए (vitamin A) आंखों के लिए बेहद लाभदायक होता है।
  • गाजर को पक्का खाने के साथ पालक के रस के साथ इसका जूस मिलाकर भी पी सकते हैं।

आंखों के लिए कुछ व्यायाम (Exercises for eyes)

  • लगातार आंखों की पलकों को 20 से 25 बार झपकाएं।
  • इसके बाद करीब दो से तीन मिनट तक आंखों को बंद करके उन्हें आराम दें।
  • पद्मासन में बैठकर आंखों की पुतलियों को दस बार घड़ी की सुई की दिशा में और 10 बार घड़ी की सुई की विपरीत दिशा में घुमाएं।
  • पूरा होने के बाद आंखों को बंद करके थोड़ा आराम भी दें।
  • रोजाना ये व्यायाम करने से आंखें एकदम स्वस्थ रहती हैं।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!