वैवाहिक रिश्ते में भी दरार डाल रहा कोरोना, चीन में बढ़े तलाक के मामले
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Is Corona Virus driving up divorce rate?

कोरोना वायरस का असर चीन में वैवाहिक संबंधों पर भी दिखने लगा है। जी हां, इसकी वजह से यहां वैवाहिक संबंध विच्छेद बढ़ने लगे हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में चीनी अधिकारियों के हवाले से बताया जा रहा है कि देश में तलाक लेने वालों की तादाद में इजाफा हुआ है। द ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित खबर में बताया गया है कि हालिया हफ्तों में चीन के जियान (Xi’an) शहर में रिकाॅर्ड संख्या में तलाक के मामले सामने आये हैं। बहुत से लोगों ने स्थानीय कार्यालय में तलाक दाखिल करने के लिए अर्जी दी है।

लगी है लंबी लाइन तलाक लेने के लिए

अधिकारियों द्वारा इस रिपोर्ट में बताया गया है कि ऐसा दो वजहों से हो सकता है। एक तो कोरोना वायरस के कारण जो लंबे समय से कार्यालय बंद चल रहे थे तो उनके खुलने के बाद यह स्वाभाविक भीड़ है लोगों के तलाक लेने के लिए लाइन में लगने की। जबकि वांग नाम के एक अधिकारी के अनुसार दूसरी वजह यह हो सकती है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोगों ने क्वारंटन में बहुत वक्त बिताए हैं। पति-पत्नी के साथ में समय बिताने के दौरान उनके बीच झगड़े भी हुए हैं। यहां तक कि छोटी-मोटी बातों पर भी। ऐसे में उन्होंने महसूस किया है कि वे एक-दूसरे के साथ नहीं रह सकते और एक-दूसरे को तलाक देने का मन बना लिया है।

मिनटों में पछतावा और दोबारा शादी

वैसे, एक अधिकारी की ओर से यह भी बताया गया है कि तलाक लेने के बाद बहुत से ऐसे जोड़े भी हैं, जो अपने इस निर्णय को लेकर पछता रहे है। कई ऐसे जोड़े हैं, जिन्हें तलाक लेने के बाद 30 से 40 मिनट के अंदर यह एहसास हो गया है कि उन्होंने गलत निर्णय ले लिया है। इनमें से बहुत ने तलाक लेने के कुछ ही मिनटों के अंदर दोबारा शादी भी कर ली है। इस तरह से शोधकर्ताओं के लिए भी यह पता करना बेहद रोचक हो गया है कि कपल यदि साथ में समय बिताते हैं, तो यह उनके लिए अच्छा है या बुरा।

क्या कहते हैं अलग-अलग अध्ययन?

वर्ष 2018 में एक अध्ययन में यह पाया गया था कि जो लोग शादी से पहले साथ में रहते हैं, शादी के बाद पहले साल में तलाक लेने के मामले उनके बीच कम देखने को मिलते हैं, मगर पांच साल के बाद इनके तलाक लेने के मामले काफी देखने को मिल जाते हैं। वहीं, एक हालिया अध्ययन में पाया गया था कि जो कपल साथ में रहते हैं, उनके बीच तलाक कम ही होते हैं, जबकि एक और अध्ययन में पाया गया कि साथ रहें या न रहें, कोई फर्क ही नहीं पड़ता।

संतुलन बनाकर चलना ही सबसे बेहतर

साइकोलाॅजी टुडे में प्रकाशित एक लेख में मेकिंग मैरिज वर्क (Making Marriage Work) से जुड़े मनोवैज्ञानिकों राॅब पस्कल (Rob Pascale) और लाऊ प्रीमावेरा (Lou Primavera) ने लिखा है कि संतुलन बनाकर चलना ही सबसे बेहतर होता है और खुशी भी इसमें छिपी होती है। उन्होंने लिखा है कि जब आप दोस्तों व परिवार के साथ भी समय एक कपल के तौर पर साथ रहने के दौरान भी बिताते हैं और अपने पार्टनर को बीच-बीच में अलग वक्त बिताने का भी मौका देते हैं, तो इससे वैवाहिक रिश्ता मजबूत बना रहता है।

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।



error: Content is protected !!