जानें, गर्भपात के बाद गर्भधारण करना कितना आसान कितना मुश्किल?
कृपया शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Miscarriage ke baad pregnancy in Hindi

दोस्तो, TanMan.org पर हम आपके लिए हेल्थ, फिटनेस, लाइफस्टाइल और फैशन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां लेकर आते हैं। इसी कड़ी में आज हम आपको बता रहे हैं गर्भपात के बाद गर्भधारण से जुड़े 7 अहम सवालों के जवाब।

पहला सवाल: क्या गर्भपात के बाद गर्भधारण करने के लिए महिलाएं फर्टाइल बनी रहती हैं? (miscarriage ke baad pregnancy ke liye fertility bani rahti hai?)

जवाब: गर्भपात के बाद प्रोजेस्टेरोन में तरंगों के कारण फर्टिलिटी को दोबारा सामान्य होने में 3 से 6 सप्ताह लग जाते हैं। उसके बाद से ही सामान्य पीरियड और फर्टिलिटी की प्रक्रिया शुरू होती है। जल्दी सामान्य होने के लिए जरूरी है कि आप गर्भपात के बाद केयर टिप्स और गर्भपात के बाद का भोजन तय करने में विशेष सावधानी बरतें।

दूसरा सवाल: एबॉर्शन के कितने दिन बाद पीरियड आता है? (garbhpat ke baad period kab aata hai?)

जवाब: जिस तरह से अलग अलग महिलाओं की प्रेगनेंसी के लक्षण अलग अलग होते हैं, उसी तरह से अलग अलग महिलाओं में गर्भपात के बाद की स्थितियां अलग अलग हो सकती हैं। इसके कारण पीरियड आने के समय में भी थोड़ा अंतर देखा जाता है। मेडिकल गर्भपात के मामले में फिर से पीरियड आने में चार से आठ हफ्ते का समय लग सकता है, जबकि सर्जिकल गर्भपात के मामले में दोबारा पीरियड आने में चार से छह सप्ताह का समय लग सकता है। गर्भपात किस हफ्ते में हुआ है और गर्भपात किस तरीके से हुआ या कराया गया है, दोबारा पीरियड आने में यह बात काफी महत्वपूर्ण हो जाती है। इसलिए अलग-अलग केसेज में लगभग 8 हफ्ते तक इंतज़ार करना चाहिए। यदि इसके बाद भी पीरियड न आए तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

तीसरा सवाल: गर्भपात के बाद ओव्यूलेशन के क्या संकेत होते हैं? (miscarriage ke baad ovulation kab hota hai?)

जवाब: गर्भपात के बाद ओव्यूलेशन के संकेत बिल्कुल वैसे ही होते हैं, जैसे कि नॉर्मल दिनों में होते हैं। आपको अपने पेट के निचले हिस्से में दाईं या बाईं तरफ दर्द या चुभन जैसा महसूस होता है। यह दर्द कुछ मिनटों से लेकर कुछ घंटों तक रह सकता है। यानी और गर्भपात के बाद लक्षण और गर्भपात के बाद पेट में दर्द पर आपको नज़र रखनी चाहिए और आवश्यक होने पर अपने डॉक्टर से भी इसके बारे में सलाह-मशविरा करते रहना चाहिए।

चौथा सवाल: गर्भपात के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए? (miscarriage ke kitne din baad sambandh banana chahiye?)

जवाब: ज्यादातर मामलों में गर्भपात के बाद सामान्य होते ही फिर से प्रेगनेंसी की कोशिश शुरू की जा सकती है।

पांचवां सवाल: क्या गर्भपात के बाद गर्भधारण करना मुश्किल होता है? (miscarriage ke baad pregnant hona mushkil hota hai?)

जवाब: गर्भपात के बाद गर्भधारण करना बिलकुल भी मुश्किल नहीं है। गर्भपात के तुरंत बाद प्रेगनेंट होने का विचार बहुत अच्छा होता है, यदि कोई शारीरिक कष्ट नहीं है तो।

छठा सवाल: एक सामान्य महिला एबॉर्शन के कितने दिन बाद प्रेग्नेंट हो सकती है? (miscarriage ke baad pregnancy kab hoti hai?)

जवाब: एक सामान्य महिला एबॉर्शन के कितने दिन बाद प्रेग्नेंट हो सकती है? तो कई शोधों के मुताबिक इसका जवाब यह है कि 76% महिलाएं गर्भपात के तीन महीनों के अन्दर फिर से प्रेगनेंट हो सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि आप हौसला बनाए रखें, गर्भपात के बाद घरेलू उपचार, गर्भपात के बाद केयर टिप्स और गर्भपात के बाद का भोजन पर विशेष ध्यान दें और जल्द से जल्द स्वस्थ्य और सामान्य होने का प्रयास करें।

सातवां सवाल: क्या गर्भपात के बाद गर्भधारण सुरक्षित होता है? (miscarriage ke baad pregnancy safe hoti hai?)

जवाब: 35 वर्ष से कम उम्र की महिलाओं को सामान्यतः प्रेगनेंसी के समय गर्भपात का ख़तरा बहुत कम ही होता है। लेकिन गर्भपात होने के बाद प्रेगनेंसी पूरी तरह से सुरक्षित होती है। यदि आप गर्भपात के तुरंत बाद प्रेगनेंसी के बारे में सोचती हैं, तो इसमें किसी भी प्रकार का कोई ख़तरा नहीं होता है। अधिकतर महिलाओं को यह ग़लत धारणा रहती है कि वो गर्भपात के बाद आसानी से प्रेगनेंट नहीं हो सकती हैं या फिर गर्भपात के बाद प्रेगनेंसी में बहुत ख़तरा होता है। लेकिन अगर वे हौसला बनाए रखें, गर्भपात के बाद केयर टिप्स और गर्भपात के बाद का भोजन का ध्यान रखें तो गर्भपात के बाद प्रेगनेंसी टेस्ट कराने की आवश्यकता उन्हें तीन महीने के भीतर ही हो सकती है। तो मिसकैरेज के बाद प्रेगनेंसी उतनी भी मुश्किल नहीं है, जितनी कि महिलाएं अक्सर समझ लेती हैं।

गर्भपात के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप ये तीन वीडियो भी देख सकती हैं-

1. गर्भपात के बाद की मुश्किलें और बचाव के आसान उपाय | Problems after miscarriage and simple home remedies

2. गर्भपात के बाद कैसे करें अपनी सही देखभाल | garbhpat ke baad kya kare | garbhpat ke baad kya khaye

3. गर्भपात के बाद दोबारा गर्भधारण के लिए क्या करें | how to get pregnant after miscarriage in hindi?

अस्वीकरण (Disclaimer):

इस वेबसाइट पर प्रकाशित स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां केवल सूचनात्मक उद्देश्य के लिए हैं और ये पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं हैं। यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं या ऐसी किसी समस्या का आपको संदेह है, तो अपने पारिवारिक चिकित्सक या अन्य उपयुक्त चिकित्सक से परामर्श करें। यदि आप किसी हेल्थ इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं या इसका आपको संदेह है, तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाएं।


error: Content is protected !!