दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री को अपनी ही सरकार के अस्पतालों से क्यों लगता है डर?
कृपया इसे शेयर करें ताकि अधिक लोग लाभ उठा सकें

Delhi Health Minister gets COVID treatment in a costly private hospital

अभिरंजन कुमार जाने-माने पत्रकार, कवि और मानवतावादी चिंतक हैं। कई किताबों के लेखक और कई राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय समाचार चैनलों के संपादक रह चुके अभिरंजन फिलहाल न्यूट्रल मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक हैं।


दिल्ली सरकार के कोविड-ग्रस्त स्वास्थ्य मंत्री का इलाज दिल्ली के किसी सरकारी अस्पताल में नहीं, बल्कि साकेत स्थित मैक्स सुपर स्पेसियलिटी प्राइवेट अस्पताल में हो रहा है। इससे कुछ बातें समझ लीजिए-

1. दिल्ली की सरकार जिन सरकारी अस्पतालों को वर्ल्ड क्लास बताती है, वे आजकल लोगों को मौत बांट रहे हैं, इसीलिए खुद उसके स्वास्थ्य मंत्री वहाँ इलाज कराना उचित नहीं समझते।

2. दिल्ली के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली के सरकारी अस्पतालों को बेहतर बनाने के जो दावे किए थे, वह दिल्ली की जनता से एक किस्म की धोखाधड़ी थी, जो जनता से उनके वोट ठगने के लिए की गई।

3. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री स्वयं भी भ्रष्ट और निकम्मे हैं, इसीलिए समूची दिल्ली में वह किसी एक सरकारी अस्पताल में भी ऐसे इंतज़ाम नहीं कर सके, जहाँ निडर होकर वह अपना इलाज करा लें।

4. आम आदमी पार्टी में कोई आम आदमी नहीं है। ज़रा मैक्स अस्पताल की कोविड रेट लिस्ट की अटैच्ड फोटो देख लीजिए। किसी आम आदमी की इतनी औकात नहीं जो इस अस्पताल में अपना इलाज करा सके।

5. आम आदमी पार्टी की सरकार ने कोविड काल में दिल्ली के आम आदमी को मरने के लिए छोड़ दिया है, लेकिन खास लोगों पर वह आम आदमी के खून पसीने का पैसा लुटाने में ज़रा भी नहीं शरमाती।

सवाल है कि अगर दिल्ली में आम आदमी की सरकार है और इस सरकार ने यहाँ के सरकारी अस्पतालों में अच्छे इंतज़ाम किये हैं तो क्या राज्य के स्वास्थ्य मंत्री को यहाँ के किसी सरकारी अस्पताल में अपना इलाज नहीं कराना चाहिए था?

सवाल यह भी है कि अगर दिल्ली के किसी आम आदमी का इलाज सरकारी अस्पताल में संभव नहीं हो सका, तो उसे मैक्स जैसे महंगे अस्पतालों में कौन भर्ती कराएगा? और अगर उसे किसी प्राइवेट अस्पताल में भर्ती नहीं कराया जा सका तो उसकी तो मौत हो जाएगी न? यदि हाँ, तो उसकी मौत का जिम्मेदार कौन होगा?

तो कुछ समझ में आया कि दिल्ली में अब तक 1969 मौतें (19 जून 2020 तक) कैसे हुई हैं और इन मौतों का जिम्मेदार कौन है?



error: Content is protected !!